कैसे बचें स्तनपान (Breastfeeding) को लेकर फैले इन 6 अफवाहों से

आप सोच रहे होंगे कि हम अचानक आपको स्तनपान (Breastfeeding) के बारे में क्यों बता रहे हैं? तो इसका जवाब ये है कि प्रत्येक वर्ष अगस्त महीने का पहला सप्ताह 'विश्व स्तनपान सप्ताह' के रूप में मनाया जाता है. तो इस मौके पर आपको इससे जुड़े 7 मिथकों का सच बताने जा रहे हैं.

152

आप सोच रहे होंगे कि हम अचानक आपको स्तनपान (Breastfeeding) के बारे में क्यों बता रहे हैं? तो इसका जवाब ये है कि प्रत्येक वर्ष अगस्त महीने का पहला सप्ताह ‘विश्व स्तनपान सप्ताह’ के रूप में मनाया जाता है. तो इस मौके पर आपको इससे जुड़े 7 मिथकों का सच बताने जा रहे हैं.

1. तबियत खराब होने पर Breastfeeding

आपको ये जानकर शायद आश्चर्य होगा कि तबियत खराब होने के लक्षण दिखने से पहले ही इसका इन्फेक्शन आपके बच्चे तक पहुँच जाता है. हलांकि ये भी हो सकता है कि बच्चे से ही आपमें इन्फेक्शन पहुंचे. लेकिन आपको बच्चे को दूध फिर भी पिलाते ही रहना चाहिए. ज्यादा दिक्कत हो तो आप डॉक्टर को दिखा सकते हैं.

2. फ़ॉर्म्युला मिल्क या ब्रेस्ट मिल्क?

कई लोग ऐडेड न्यूट्रिएन्ट्स होने के कारण फ़ॉर्म्युला मिल्क को बेहतर मानते हैं. लेकिन सिर्फ इससे काम नहीं चलता. माँ के दूध में ऐंटीबॉडीज, लिविंग सेल्स, एन्जाइम्स और हार्मोन्स होने के कारण इससे बेहतर तो कुछ हो ही नहीं सकता. लेकिन यदि फ़ॉर्म्युला मिल्क भी देना चाहते हैं तो दोनों का कॉम्बिनेशन दिया जा सकता है.

3. यौन उत्तेजना को लेकर

जाहिर है कि स्तनपान के वक्त ऑक्सिटॉक्सिन हार्मोन नामक हार्मोन रिलीज होता है जिससे यौन उत्तेजना महसूस होता है. लेकिन हो सकता है कि ये सभी माओं के साथ न हो. फिर भी बच्चे को दूध पिलाते समय यौन उत्तेजना महसूस करना सामान्य है.

4. ब्रेस्ट शेप को लेकर

कई माएं स्तनपान को लेकर डरती हैं. उन्हें लगता है कि इससे उनके ब्रेस्ट का शेप खराब हो सकता है. इस पर विशेषज्ञों का कहना है कि स्तनपान का ब्रेस्ट के शेप पर ज्यादा असर नहीं होता है. हलांकि इसके लिए आपको तरीके से कराना होगा.

5. तनाव में ब्रेस्टफीडिंग

कैसे बचें स्तनपान (Breastfeeding) को लेकर फैले इन 6 अफवाहों से

स्तनपान के समय जब माँ तनाव में होती है तो ऑक्सिटॉक्सिन नामक हार्मोन कम रिलीज होती है. इसके कारण दूध की सप्लाई में कमी आती है और ब्रेस्ट फीडिंग में ज्यादा समय लगता है. हालाँकि ये समस्या तनाव खत्म होने के साथ ही ख़त्म हो जाता है.

6. खाने-पिने को लेकर

कई लोग इस गलतफहमी के शिकार हो जाते हैं. इसके कारण वो लोग स्तनपान के दौरान खाने-पिने पर खूब ध्यान देते हैं. लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि इसका फायदा तो कुछ नहीं है हाँ नुक्सान जरुर हो सकता है. इसलिए आप अच्छा और हेल्दी डाईट लें. यानी जितना खा सकतीं हैं या जितना पानी पी सकतीं हैं उतना ही लें.

LEAVE A REPLY