महाभारत की 6 शक्तियां जिनका आज भी इस्तेमाल होता है

63
61050

आज टेक्नोलॉजी ने हमें कितना एडवांस बना दिया है. लेकिन हम आपको बताएँगे महाभारत काल की टेक्नोलॉजी के बारे में. जिसे पढ़कर आप दांतों तले उंगली दबा लेंगे. वो है, महाभारत की 6 शक्तियां जिनका आज भी इस्तेमाल होता है. हजारों साल पहले भी कितनी एडवांस टेक्नोलॉजी थी ये जानकार आप हैरान रह जाएंगे.
महाभारत का युद्ध
महाभारत का युद्ध

1. शिल्पकारी का बेहतरीन नमूना

महाभारत की लड़ाई में कौरवों के नष्ट होने के बाद धृतराष्ट्र पुत्र मोह में फंस गए थे. तो उन्होंने ने बदले में भीम को बाहुबल से दबाकर मारने की योजना बनाई. लेकिन कृष्ण उनकी मंशा पहले ही भांप गए. तब वो भीम का असली लगाने वाला पत्थर का पुतला बनवा लाते हैं. और धृतराष्ट्र उसे ही दबाकर अपनी इच्छा पूरी करते हैं. लेकिन उन्हें बिल्कुल पता नहीं चलता कि वो भीम नहीं पुतला है. मतलब उस समय बिना किसी प्रोफेशनल कोर्स के बेहतरीन शिल्पकार मौजूद थे.

2. लाइव कवरेज

आज हम रोज ही टीवी पर आँखों देखा हाल देखते हैं. क्रिकेट का लाइव प्रसारण और साथ में कमेंट्री सुनते हैं. महाभारत में भी बिल्कुल ऐसा ही हुआ था. संजय ने महाभारत की पूरी लड़ाई का आँखों देखा हाल धृतराष्ट्र को सुनाया था.

आँखों देखा हाल
आँखों देखा हाल

3. आईवीएफ विधि

महाभारत में वर्णित कथा के अनुसार पांडू पिता नहीं बन सकते थे. इसलिए कुंती ने देवताओं की मदद से पुत्रों को प्राप्त किया था. लेकिन तथ्यों पर ध्यान दें तो यहाँ आई.वी.एफ. का प्रयोग किया गया होगा. लेकिन सामाजिक लोक-लाज के चलते इसका पूरा वर्णन नहीं किया गया होगा.

4. टेस्ट ट्यूब बेबी

गांधारी ने अपने गर्भ से निकले मांस के छोटे-छोटे टुकड़े करके 101 घड़ों में रख दिया था. जिसमें से 100 कौरव और उनकी एक बहन दुशाला का जन्म हुआ.

5. 3डी भवन निर्माण कला

महाभारत कि कहानी में द्रौपदी का महल शीशे का बना था. जो बिल्कुल 3डी आकृति का लगता था. जब दुर्योधन वहाँ जाते हैं तो भ्रमित होकर फिसल पड़ते हैं. जो आगे चलाकर लड़ाई का कारण बना.

6 परमाणु बम का प्रयोग

अश्वथामा ने उतरा के गर्भस्थ शिशु को मारने के लिए ब्रह्मास्त्र कका प्रयोग किया था. इससे पृथ्वी पर परमाणु बम जैसी ही तबाही हुयी थी.

 

ये भी पढ़ें 

इस दिवाली लक्ष्मी जी का कृपा पात्र बनने के लिए ये 10 उपाय अपनाएँ

जानिए भगवान कृष्ण के लाइफ मैनेजमेंट की चार बातें

आपको पता है ये चार लोग अर्जुन के साथ ही गीता (Geeta) का उपदेश सुन रहे थे

63 COMMENTS

LEAVE A REPLY