खेल रत्न चुने जाने पर क्या कहा हॉकी के पूर्व कप्तान सरदार सिंह (Sardar Singh) ने?

0
795
खेल रत्न चुने जाने पर क्या कहा हॉकी के पूर्व कप्तान सरदार सिंह (Sardar Singh) ने?

सरदार सिंह (Sardar Singh) जो कि भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान हैं, को राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया है. इस मौके पर उन्होंने अपने मन की कई बातें साझा कीं. उनमें से कई बातों को सुनकर आप खुद तय करेंगे कि ये चुनाव कितना उचित है.

खेलरत्न पर क्या बोले Sardar Singh?

जब उनसे राजिव गांधी खेलरत्न चुने जाने पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जब उन्हें पहली बार ये खबर मिली तो वो चौंक गए. इसके साथ ही थोड़े भावुक हो गए और खुद पर थोड़ा गर्व महसूस करने लगे. क्योंकि ये पुरस्कार सभी खिलाडियों के लिए लाइफ़टाइम अचीवमेंट जैसा है. इसके साथ ही आने वाले टूर्नामेंट और मैचों पर भी उन्होंने बात की. उन्होंने भी ये बात मानी की इस तरह के पुरस्कारों से किसी भी खिलाड़ी का मनोबल बढ़ता है और आगे बेहतरीन प्रदर्शन करने की प्रेरणा भी मिलती है.

आने वाले मैचों के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि इस साल के अभी दो बड़े टूर्नामेंट बाकी हैं. वहीं 2018 में एशियन गेम्स होने हैं और विश्वकप का भी आयोजन किया जाना है. ओलम्पिक के बारे में भी उन्होंने बात की. इस विषय उनका स्पष्ट मानना था कि भारत को भी ओलम्पिक में पदक जीतना होगा. इसमें पदक जीतना उनके लिए बेहद महत्वपूर्ण है. उनका ये भी कहना था कि देश के लिए मैडल जीतना बेहद गौरवपूर्ण काम है.

आखिर अपने खेल से संतुष्ट क्यों नहीं हैं?

खेल रत्न चुने जाने पर क्या कहा हॉकी के पूर्व कप्तान सरदार सिंह (Sardar Singh) ने?

इस सवाल का जवाब देते हुए सरदार सिंह ने कहा कि वो कई बार गलतियाँ करते हैं. लेकिन इसका स्पष्ट जवाब ये है कि यदि वो अपने खेल से संतुष्ट हो गए अपने खेल को बेहतर कैसे बनाएंगे. उन्होंने ये भी कहा कि वो अपनी गलतियाँ इसलिए सुधारना चाहते हैं ताकि वो लम्बे समय तक खेल सकें. उन्होंने एक और महत्वपूर्ण बात बताई कि टीम में तमाम युवा खिलाडियों के होने के बावजूद वो खुद को सबसे जूनियर मानकर चलते हैं. उनका कहना था कि आज वो जिस भी मुकाम पर हैं अपने साथी खिलाड़ियों की वजह से ही हैं.

LEAVE A REPLY